सुरमई शाम

पलकों के पास, बसेरा है... कुछ अनकहे, अल्फ़ाज़ों का...

Advertisements

…जहाँ ‘बुलेट’ मोटरसाइकिल की पूजा होती है !

अगर आप सड़क मार्ग से जोधपुर से पाली की ओर जा रहे हों तो नगर से मात्र २० मिनट पहले एक मंदिर तथा उस पर जमा भक्तों की भीड़ में आप भी शामिल हो सकते हैं, जहाँ रॉयल एन फील्ड की बुलेट मोटरसाइकिल की पूजा की जाती है. आस्था और अन्धविश्वास के इस मंदिर में… Continue reading …जहाँ ‘बुलेट’ मोटरसाइकिल की पूजा होती है !